मुंशी प्रेमचंद  

मुंशी प्रेमचंद जी ने अपनी कहानियों एवम उपन्यासों में हमारे पुरे जीवन को समेटा हैं जिनको पढ़ना हमारे लिए काफी ज्यादा रुचिकर होने के साथ साथ लाभदायक भी है 

नशा  नशा कहानी का  उद्देश्‍य समाज की विसंगतियों को उखाड़कर आस्‍थावादी संदेश देना  हैं 

बेटों वाली विधवा -

इस कहानी में लेखक ने एक विधवा स्त्री की व्यथा का वर्णन किया है, जिसके चार पुत्र तथा पुत्री है। उसके पति की मृत्यु के बाद उसकी पति उसके नाम अच्छी-खासी संपत्ति छोड़ जाते हैं, लेकिन उसकी सारी संपत्ति पर उसके चारों बेटे अपना अधिकार जमा लेते हैं। 

बड़े घर की बेटी 

'बड़े घर की बेटी' कहानी का उद्देश्य है-घर-परिवार को बिखरने से बचाना। इस कहानी में पारिवारिक संबंधों को बचाए रखने की बात कही गयी है। 

गुल्ली -डंडा 

'गुल्ली डंडा' कहानी का मुख्य पात्र थानेदार का बेटा था और उसका मित्र गया एक गरीब चर्मकार था। 

ईदगाह -

यह कहानी हामिद की मात्र 8 वर्ष की आयु में परिपक्वता को दर्शाती है। उसके अंदर की संवेदनशीलता को दर्शाती है 

हमारी वेबसाइट आपको सभी सरकारी नोकरियों की तत्काल सुचना एवम सभी प्रकार की योजनाओं के बारे मे जानकारी देने के साथ साथ कुछ अलग और खाश जानकारियां भी प्रदान करेगी